SERBD

SERBD -Hindi Journal ISSN-Under Process [An International Peer Reviewed Journal]

About Journal (Policy and Guidelines for Authors)


[An International Peer Reviewed Journal]

SERBD Journals

SERBD- अंतरराष्ट्रीय हिंदी शोध पत्रिका नव अन्वेषण

Society for Environmental Resources and Biotechnology Development (SERBD) publishes research papers in the following areas of research in the sciences and social humanities, some are listed below :
एस.ई.आर.बी.डी. निम्नलिखित विज्ञान और सामाजिक मानविकी अनुसंधान के क्षेत्रों में शोध पत्र प्रकाशित करता है, कुछ की सूची इस प्रकार है :

S.No. Subject S.No. Subject
1 Chemical Sciences 2 Earth Sciences
3 Life Sciences 4 Mathematical Sciences
5 Physical Sciences 6. Medical Sciences
7 Pharmaceutical Sciences 8. Social Sciences
9. Historical Sciences 10. Sciences of Business Sciences
11 Sciences of Electrohomeopathy 12. Sciences of Laws
13 Social Humanities 14. Hindi Literature
15 Arts 16. Sociology, geography etc.

जर्नल "SERBD- अंतरराष्ट्रीय हिंदी शोध पत्रिका नव अन्वेषण", में अधिकांश समाज और अन्य संगठनों के सहयोग से लेख प्रकाशित होते हैं। SERBD सदस्यता शुल्‍क मॉडल में प्रकाशित करता है। हमने जर्नल को विषयवार खंडों में विभाजित किया है। लेखक (प्रथम या संबंधित) को नाममात्र के सदस्यता शुल्‍क पर अपने खंड का एक वर्ष का सब्सक्रिप्शन लेना होगा। हमारे प्रकाशनों का प्रमुख गंतव्य SERBD साइट है। हमारा मिशन उच्चतम गुणवत्ता वाले शोध को व्यापक रूप से संभव पाठकों तक पहुंचाना है। SERBD विभिन्न भागीदारों के साथ काम कर रहा है ताकि उनकी ओर से हमारे द्वारा प्रकाशित पत्रिका की वैश्विक पहुंच को अधिकतम किया जा सके। हम सलाहकार समूहों और अन्य माध्यमों के माध्यम से पुस्तकालयाध्यक्षों के साथ भी जुड़ते हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि हम उनकी बदलती जरूरतों को पूरा करते रहें।


Manuscript Management bodies
Chief Editor → Editors → Editorial Board Members → Reviewer

Why Subscribe and Read

* जर्नल विभिन्न विज्ञानों के व्यापक स्पेक्ट्रम से नवीनतम जानकारी लाता है
* उच्च प्रकाशन गुणवत्ता इलेक्ट्रॉनिक रूप में उपलब्ध है।

Why Submit
* अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों द्वारा रचनात्मक, व्यापक समीक्षा (peer reviewed)।
* संपादक प्रकाशित लेखों की उच्च वैज्ञानिक गुणवत्ता की रक्षा कर रहे हैं।

Aims and Scope (उद्देश्य और कार्यक्षेत्र)

The Journal`s mission statement is to serve scientists through prompt publication of significant advances in any branch of science, and to provide a forum for the reporting and discussion of news and issues concerning science.

जर्नल का मिशन वक्तव्य विज्ञान की किसी भी शाखा में महत्वपूर्ण प्रगति के त्वरित प्रकाशन के माध्यम से वैज्ञानिकों की सेवा करना है, और समाचार और विज्ञान से संबंधित मुद्दों की रिपोर्टिंग और चर्चा के लिए एक मंच प्रदान करना है।

Copyright Policy

In accepting your manuscript for publication, we wish to acquaint you with our copyright policies and to enlist your cooperation. -Copyright protects you from plagiarism and pirating, and ensures that your text cannot be altered without your consent. -Copyright also allows you or your publisher to offset expenses in publishing your work by means of royalties. -The Journal of SERBD is all copyrighted periodicals. We would like to draw your attention to the protection copyright affords against multiple photocopying by libraries, instructors, and copy centers. The 1976 copyright law provides that photocopies in excess of "fair use" copying cannot be made without authorization by the copyright owner "fair use" meaning single copying for personal use. Accordingly, the Journals authorize personal or educational multiple copying only if a request is made in writing and the required fee per copy is paid directly to us. Each copy must include a notice of copyright. -It is the policy of SERBD-Journals to grant to any reputable publisher the right to reprint any of our articles, but only under the condition that the permission of the author is obtained. We ask that publishers interested in reprinting any material send a request in writing to the Managing Editor. -SERBD-Journals currently grants permission to publishers for the use of our copyrighted material in digital form on a case-by-case basis only. For use in electronic course packs, access to copyrighted materials should be password-protected and limited to currently enrolled students.

प्रकाशन के लिए आपकी पांडुलिपि को स्वीकार करते समय, हम आपको अपनी कॉपीराइट नीतियों से परिचित कराना चाहते हैं और आपके सहयोग को सूचीबद्ध करना चाहते हैं। -कॉपीराइट आपके साहित्य को पायरेसी और पायरेसी से बचाता है, और यह सुनिश्चित करता है कि आपके लेख को आपकी सहमति के बिना बदला नहीं जा सकता। -कॉपीराइट आपको या आपके प्रकाशक को आपको या आपके प्रकाशक को रॉयल्टी के माध्यम से आपके काम को प्रकाशित करने की लागत की प्रतिपूर्ति करने की भी अनुमति देता है। - पत्रिका में प्रकाशित सभी लेख कॉपीराइट सुरक्षित हैं। हम आपका ध्यान पुस्तकालयों, प्रशिक्षकों और प्रतिलिपि केंद्रों द्वारा की गई फोटोकॉपी के खिलाफ कॉपीराइट सुरक्षा की ओर आकर्षित करना चाहते हैं। 1976 का कॉपीराइट कानून यह प्रदान करता है कि प्रकाशक की लिखित अनुमति के बिना "उचित उपयोग" से अधिक की फोटोकॉपी नहीं की जा सकती है। यहां "उचित उपयोग" का अर्थ व्यक्तिगत उपयोग के लिए प्राप्त की गई प्रति है। जो कि साहित्यिक कार्य, वीडियो, फ़ोटो, ऑडियो, मुक्त शिक्षा, वैज्ञानिक अनुसंधान और अन्य लोकहित के कार्य। परन्तु उसके उपयोग में वास्तविक लेखक का गुणगान आवश्यक है। - तदनुसार, यदि लिखित रूप में अनुरोध किया जाता है, तो जर्नल व्यक्तिगत या अकादमिक एकाधिक प्रतिलिपि को अधिकृत करते हैं और आवश्यक प्रतिलिपि शुल्क का भुगतान सीधे SERBD को किया जाता है। -ऐसी प्रत्येक प्रति में कॉपीराइट का नोटिस शामिल होना चाहिए। -किसी को प्रतिलिपी देना SERBD की नीतिगत अधिकार है.

Authors’ Right (लेखक का अधिकार)

Authors are permitted to reprint their article at no fee; but we ask that author or any third party to give us notice of any direct negotiations with publishers regarding the reprinting of an article on which we hold copyright. Authors’ are allowed to post an electronic version of their article on their personal website as long as SERBD-Journals copyright is acknowledged; such use does not extend, however, to permission for the host site (such as a university server) to repackage any copyrighted material with other electronic content for whatever reason educational, commercial, or otherwise.

लेखकों को अपने लेख को बिना किसी शुल्क के पुनर्मुद्रण करने की अनुमति है; लेकिन हम उस लेखक या किसी तीसरे पक्ष से उस लेख के पुनर्मुद्रण के संबंध में अन्य प्रकाशकों के साथ किसी भी सीधी बातचीत की लिखित सूचना देने के लिए कहते हैं, जिस लेख के हमारे पास कॉपीराइट है। जब तक SERBD द्वारा कॉपीराइट को स्वीकार किया जाता है, तब तक लेखकों को अपने लेख का अपने career के विकास के लिए इलेक्ट्रॉनिक संस्करण अपनी व्यक्तिगत वेबसाइट पर पोस्ट करने की अनुमति है; हालांकि, इस तरह के उपयोग को कोई अन्य मेजबान साइट (जैसे विश्वविद्यालय server) के लिए किसी भी कॉपीराइट सामग्री को अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामग्री के साथ वाणिज्यिक, या अन्यथा किसी भी कारण से किसी भी प्रकार के फॉर्मेट में करने की अनुमति नहीं है।

Submission Guidelines (लेख लिखने व जर्नल में प्रकाशित करने हेतु दिशा - निर्देश)

The article should be prepared according to the following guidelines: The length of articles is normally no greater than 10,000 words but should not exceed 20,000 words, including an abstract and notes. An article exceeding the length limit will be returned to the author. At the beginning of the article, the title, abstract and a list of key words should precede the text. Please use section headings in bold type and number them. References should conform to the style displayed in the samples below under Citations and References. The paragraph break should be indicated by an extra line space rather than an indentation at the beginning of a paragraph. Font should be 12-point kruti dev 010 or Arial, whether in normal, bold, or italic, including endnotes. Please do not insert line breaks in the text or special spacing for formatting. The left hand, the right hand, the top and the bottom margins should all be 3cm. The paper you submit should be in PDF only. Please do NOT submit texts in MS Word, Rich Text Format (RTF), or WordPerfect. Do NOT compress or lock your PDF. Do NOT compress the images in your premier word.doc either. Do NOT number the pages of your PDF and Do NOT use any headers or footers either.

लेख निम्नलिखित दिशानिर्देशों के अनुसार तैयार किया जाना चाहिए: लेखों की लंबाई आम तौर पर 10,000 शब्दों तक होती है, लेकिन अपरिहार्य स्थिति में अधिकतम 20,000 शब्दों तक के लेख की अनुमति है। लेख में एक सार और नोट्स शामिल होने चाहिए । लंबाई सीमा से अधिक का लेख लेखक को लौटा दिये जाने की सम्भावना सबसे अधिक है । *लेख की शुरुआत में, शीर्षक, सार और मुख्य शब्दों की एक सूची पाठ में सबसे पहले होनी चाहिए। *कृपया अनुभाग शीर्षकों को मोटे अक्षरों में प्रयोग करें और उन्हें क्रमांकित करें। *संदर्भ नीचे दिए गए नमूनों में उद्धरण और संदर्भ के तहत प्रदर्शित शैली के अनुरूप होने चाहिए। सन्दर्भ पूर्ण होना चाहिए जिससे कि लेख में कही बात के समर्थन वाले वास्तविक लेख तक पहुंचना और उसका पूर्व लेख का पढ़ना संभव होना चाहिए। *पैराग्राफ ब्रेक को पैराग्राफ की शुरुआत में इंडेंटेशन के बजाय एक अतिरिक्त लाइन स्पेस द्वारा दर्शाया जाना चाहिए। *फ़ॉन्ट 12-बिंदु kruti dev 010 व Arial होना चाहिए, चाहे वह सामान्य, बोल्ड या इटैलिक में हो, जिसमें एंडनोट शामिल हैं। कृपया टेक्स्ट में लाइन ब्रेक या फ़ॉर्मेटिंग के लिए विशेष रिक्ति न डालें। Arial font में लेख के उन्ही सभी शब्दों को लिखना है जिनका हिंदी संस्करण आम प्राचलन में नहीं है। *पेज के बायां हाथ, दाहिना हाथ, ऊपर और नीचे का मार्जिन सभी 3 सेमी होना चाहिए। *आपके द्वारा सबमिट किया गया पेपर editable Word format और pdf में होना चाहिए। कृपया रिच टेक्स्ट फॉर्मेट (आरटीएफ), या वर्डपरफेक्ट में टेक्स्ट सबमिट न करें। सभी स्वयं निर्मित चित्र पॉवरपॉइंट स्लाइड्स में या jpg format में ही होने चाहिए। *अपने PDF को कंप्रेस या लॉक न करें। छवियों को अपने प्रमुख word.doc में भी संपीड़ित करें। अपने PDF के पृष्ठों को क्रमांकित न करें और किसी भी Header या Footer का लेख में उपयोग न करें।

Citations and References

References in articles submitted to SERBD-Journals should conform to the formats below.

Book with one author
Adair, J. (1988) Effective time management: How to save time and spend it wisely, London: Pan Books.
Book with two authors
McCarthy, P. and Hatcher, C. (1996) Speaking persuasively: Making the most of your presentations, Sydney: Allen and Unwin.
Book with three or more authors
Fisher, R., Ury, W. and Patton, B. (1991) Getting to yes: Negotiating an agreement without giving in, 2nd edition, London: Century Business.
Book – second or later edition
Barnes, R. (1995) Successful study for degrees, 2nd edition, London: Routledge.
Book by same author in the same year
Napier, A. (1993a) Fatal storm, Sydney: Allen and Unwin. Napier, A. (1993b) Survival at sea, Sydney: Allen and Unwin.
Book with an editor
Danaher, P. (ed.) (1998) Beyond the ferris wheel, Rockhampton: CQU Press.
If you have used a chapter in a book written by someone other than the editor
Byrne, J. (1995) 'Disabilities in tertiary education', in Rowan, L. and McNamee, J. (ed.) Voices of a Margin, Rockhampton: CQU Press.
Books with an anonymous or unknown author
The University Encyclopedia (1985) London: Roydon.
Written course material, for example distance learning unit material
Dhann, S. (2001) CAE0001LWR Unit 5: Note taking skills from lectures and readings, Exeter: Department of Lifelong Learning.
OR, IF THE AUTHOR IS UNKNOWN
Department of Lifelong Learning (2001), CAE0001LWR Unit 5: Note taking skills from lectures and readings, Exeter: Author. (NB – 'Author' at the end means that the publisher is the same as the author)
Government publications
Department for Education and Employment (DfEE), (2001) Skills for life: The national strategy for improving adult literacy and numeracy skills, Nottingham: DfEE Publications.
Conference papers
Hart, G., Albrecht, M., Bull, R. and Marshall, L. (1992) 'Peer consultation: A professional development opportunity for nurses employed in rural settings', Infront Outback – Conference Proceedings, Australian Rural Health Conference, Toowoomba, pp. 143 – 148.
Newspaper articles
Cumming, F. (1999) 'Tax-free savings push', Sunday Mail, 4 April, p. 1.
OR, IF THE AUTHOR IS UNKNOWN
'Tax-free savings push', Sunday Mail (4 April 1999), p. 3.
Journal article
Muller, V. (1994) 'Trapped in the body: Transsexualism, the law, sexual identity', The Australian Feminist Law Journal, vol. 3, August, pp. 103-107.
Journal article with both volume and issue number
Muller, V. (1994) 'Trapped in the body: Transsexualism, the law, sexual identity', The Australian Feminist Law Journal, vol. 3, no. 2, August, pp. 103-107.
Journal article from CD-ROM, electronic database, or journal

Skargren, E.I. & Oberg, B. (1998) 'Predictive factors for 1-year outcome of low-back and neck pain in patients treated in primary care: Comparison between the treatment strategies chiropractic and physiotherapy', Pain [Electronic], vol. 77, no. 2, pp. 201-208, Available: Elsevier/ScienceDirect/ O304-3959(98)00101-8, [8 Feb 1999].

Peer Review Policy and Evaluation Process

The practice of peer review is applied to ensure that excellent research is published. It is an objective process at the heart of high-quality scholarly publishing and is carried out by all reputable scientific journals. Our referees therefore play a vital role in maintaining the high standards of SERBD-JMS and all manuscripts are peer reviewed. Special issues may have different peer review procedures involving, for example, guest editors or scientific committees. However, the Editors first evaluate all manuscripts. Those rejected at this stage are insufficiently original, have serious scientific flaws, have poor grammar, or are outside the aims and scope of the journal. Those that meet the minimum criteria are passed on to at least two experts for review. Herein, typically the manuscript will be reviewed within 2 weeks. If the referees' reports contradict one another or a report is unreasonably delayed, a further expert opinion will be sought. Referees may request more than one revision of a manuscript.

रेफरी या विद्वान सहकर्मी द्वारा समीक्षा नीति और मूल्यांकन प्रक्रिया
लेख की उच्च गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए विषय विशेषज्ञ सहकर्मी द्वारा समीक्षा की परंपरा को निभाया जाता है ताकि उत्कृष्ट शोध प्रकाशित हो। यह उच्च गुणवत्ता वाले विद्वानों के प्रकाशन को केंद्र में रखकर अपनायी गयी एक उद्देश्यपूर्ण प्रक्रिया है और सभी प्रतिष्ठित वैज्ञानिक पत्रिकाओं द्वारा यह किया जाता है। इसलिए हमारे रेफरी SERBD जर्नल्स के उच्च मानकों को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और सभी पांडुलिपियों की समीक्षा की जाती है। विशेष मुद्दों में अलग-अलग सहकर्मी समीक्षा प्रक्रियाएं शामिल हो सकती हैं, उदाहरण के लिए, अतिथि संपादक या वैज्ञानिक समितियां। हालाँकि, संपादक पहले सभी पांडुलिपियों का मूल्यांकन करते हैं। इस स्तर पर अस्वीकृत लेख सामान्यतः अपर्याप्त रूप से मूल मुद्दे से भटके हुए होते हैं, कुछ में गंभीर वैज्ञानिक खामियां होती हैं, कुछ का खराब व्याकरण होता है, या फिर कुछ लेख पत्रिका के उद्देश्य और दायरे से बाहर के होते हैं। जो लेख न्यूनतम मानदंडों को पूरा करते हैं उन्हें ही समीक्षा के लिए कम से कम दो विशेषज्ञों के पास भेजा जाता है। यहां, आमतौर पर पांडुलिपि की समीक्षा 2 सप्ताह के भीतर करने की कोशिश होती है । यदि रेफरी की रिपोर्ट एक दूसरे का खंडन करती है या रेफरी की व्यस्तता के कारण रिपोर्ट में अनुचित रूप से देरी होती है, तो एक और विशेषज्ञ राय मांगी जाती है । रेफरी एक पांडुलिपि में एक या एक से अधिक संशोधन का अनुरोध कर सकते हैं। सभी लेखों के प्रकाशन में एडिटर का निर्णय सर्वमान्य होता है जिससे लेखक को अवगत करा दिया जाता है।

Submission Requirements (लेख भेजने की शर्तें )

Articles for submission must be previously unpublished and in English. Papers should be well-written, and we encourage grace as well as clarity. It is important that papers be copy-edited carefully before submission. Drafts are not acceptable. In submitting work to SERBD-Journals, authors agree to the policies of the journals, including access method and use of the material published in it with, of course, proper acknowledgment of authorship and source. All articles will be blind-refereed. The decision of the editorial board is final. Articles accepted for publication will be copyrighted by SERBD-Journals. Because SERBD-Journals relies on the generosity of scholars who contribute their time to review articles, we ask that authors not submit their work to other journals at the same time. However, we expect that the review process will move quickly and that authors will be notified within two weeks. In sending work to SERBD-Journals for possible publication, the submitter attests that the work is original and that he or she is the author, that it has not been published, and that it is not under consideration for publication elsewhere.

प्रस्तुत करने के लिए लेख पहले अप्रकाशित और अंग्रेजी व हिंदी में होना चाहिए। सभी सम्बंधित कागजात अच्छी तरह से स्पष्ट लिखे जाने चाहिए, और हम अनुग्रह के साथ-साथ स्पष्टता को भी प्रोत्साहित करते हैं। यह महत्वपूर्ण है कि जमा करने से पहले कागजात को सावधानीपूर्वक कॉपी-एडिट किया जाए। रफ़ ड्राफ्ट स्वीकार्य नहीं हैं। SERBD जर्नल को कार्य प्रस्तुत करने में, लेखक पत्रिकाओं की नीतियों से सहमत होते हैं, और माना जाता है कि लेखक का मौलिक लेख है जिसमें प्रकाशित सामग्री का विधिमान्य उपयोग किया गया है और निश्चित रूप से, वास्तविक लेखकत्व और पूर्व प्रकाशित स्रोत की उचित व्याख्या के साथ उद्घोषित कर शामिल है। सभी लेख अंध-रेफरी होंगे। संपादकीय बोर्ड का निर्णय अंतिम होता है। प्रकाशन के लिए स्वीकृत लेखों का कॉपीराइट SERBD के जर्नल द्वारा किया जाएगा। क्योंकि SERBD उन विद्वानों की उदारता पर निर्भर करता है जो लेखों की समीक्षा करने के लिए अपना समय देते हैं, हम लेखकों से एक ही समय में अन्य पत्रिकाओं में अपना काम प्रस्तुत नहीं करने के लिए कहते हैं। हालांकि, हम उम्मीद करते हैं कि समीक्षा प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ेगी और लेखकों को दो सप्ताह के भीतर सूचित कर दिया जाएगा। संभावित प्रकाशन के लिए SsERBD journal को पाण्डुलिपि भेजना ही, प्रस्तुतकर्ता द्वारा स्वप्रमाणित करता है कि पाण्डुलिपि में लिखित लेख मौलिक और वास्तविक है और वह भी उसका लेखक है, साथ ही स्वप्रमाणित होता है की लेखक या किसी और के द्वारा प्रकाशित नहीं किया गया है तथा प्रस्तुत लेख कहीं भी अन्यत्र विचाराधीन नहीं है।

Please Read and Agree to our Terms & Conditions

In sending work to SERBD-Journals for possible publication, the submitter attests that the work is original and that he or she is the author, that it has not been published, and that it is not under consideration for publication elsewhere.

NOTE : SERBD-Journals is publishing research paper of SERBD members (annual or Life time) free of charge till the period of their membership and these Research papers are available without any charge to any reader of Journal.

Download membership form from below link



Charges waive off application is considered based on author's country belongs to any of following economy-
Low-income economies
Lower-middle-income economies
Upper-middle-income economies
High-income economies

Contact us -
SERBD-Journals
8/153/B, Bhagwatikunj, Lawyers Colony,
Agra-282005, UP India
Mob: 9410410378
Email: ihindij@serbdagra.com

Subscribe for latest updates

email to - serbdagra@gmail.com